Home उत्तर-प्रदेश धार्मिक स्थलों के पास नहीं खुलेंगी शराब की दुकानें

धार्मिक स्थलों के पास नहीं खुलेंगी शराब की दुकानें

धार्मिक स्थलों के पास नहीं खुलेंगी शराब की दुकानें
धार्मिक स्थलों के पास नहीं खुलेंगी शराब की दुकानें

लखनऊ. प्रदेश के आबकारी एवं मद्य निषेध मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा है कि अब धार्मिक स्थलों के पास शराब की दुकाने नहीं खुलेगी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर प्रदेश में 8500 आबकारी दुकाने हाईवे के 500 मीटर के दायरे से विस्थापित की गयी हैं, इनमें तकरीबन 1500 दुकानों को अभी भी जगह नहीं मिली है।

सुप्रीम कोर्ट के एक नये नियम के मुताबिक अब उन्हें दुकानें मिल सकती हैं। उन्होंने कहा कि दुकानों की शिफ्टिंग में विभाग को आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ा।

सिंह यहां पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आबकारी विभाग प्रदेश में वाणिज्यकर विभाग के बाद राजस्व अर्जन करने वाला दूसरा सबसे बड़ा विभाग है। वर्ष 2016-17 में आबकारी विभाग ने 14,272 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया है।

विगत वर्षो में आबकारी विभाग के निर्धारित राजस्व लक्ष्य के सापेक्ष प्राप्ति में कमी आई है। इस कमी का मुख्य कारण पड़ोसी राज्यों विशेषकर हरियाणा राज्य से प्रदेश में अवैध मदिरा की तस्करी है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में अवैध शराब की तस्करी और अनाधिकृत या जहरीली शराब को लेकर कड़े कानून बनाने की दिशा में एक फैसला लिया गया है। उन्होंने बताया कि आबकारी में एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है, जो पूरी कार्यवाही पर नजर रखेगी।