Home Home बीसीसीआई अधिकारियों को सुप्रीम कोर्ट की चेतावनी

बीसीसीआई अधिकारियों को सुप्रीम कोर्ट की चेतावनी

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के तीन वरिष्ठ पदाधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर उन्होंने हमारे फैसले के अनुरूप इस संपन्न क्रिकेट संस्था के संविधान के मसौदे के बारे में सुझाव नहीं दिए तो इसके गंभीर नतीजे होंगे। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए.एम. खानविलकर और न्यायमूर्ति धनंजय वाई. चंद्रचूड की तीन सदस्यीय पीठ ने कहा कि संविधान के मसौदे में लोढा समिति के सुझाव पूरी तरह से शामिल होने चाहिए, ताकि अंतिम निर्णय के लिए शीर्ष अदालत के समक्ष एक समग्र दस्तावेज पेश किया जा सके।

इस मामले में सुनवाई के दौरान पीठ ने बीसीसीआई के तीन पदाधिकारियों सी.के. खन्ना, अमिताभ चैधरी और अनिरुद्ध चैधरी के हठी रवैये पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि ये संविधान का मसौदा तैयार करने में रोड़ा बन रहे हैं। शीर्ष अदालत ने जब ये टिप्पणियां कीं, तब तीनों पदाधिकारी उसके 23 अगस्त के आदेश का पालन करते हुए न्यायालय में उपस्थित थे।
सुप्रीम कोर्ट ने वित्तीय अनियमितताओं को लेकर रिटायर्ड जज की लोढ़ा कमेटी का गठन किया था, लेकिन बीसीसीआई ने शिफारिशों को मानने पर राजी नहीं हेा रही।