Home Odd News रशिया में मोदी ने कहा कि इतने बड़े-बड़े लोगों को मेरे जैसे...

रशिया में मोदी ने कहा कि इतने बड़े-बड़े लोगों को मेरे जैसे वकील की जरूरत नहीं

सेंट पीटर्सबर्ग.  ने यहां शुक्रवार को इंटरनेशनल इकोनॉमिक फोरम में स्पीच दी। इसके बाद मोदी और पुतिन इंटरेक्टिव सेशन में सवालों का जवाब दे रहे थे। अमेरिका की जर्नलिस्ट मेगिन कैली प्रोग्राम की एंकरिंग कर रही थीं। कैली ने मोदी से US प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में रशिया के दखल पर सवाल किया, जिसके जवाब में मोदी ने कहा कि इतने बड़े-बड़े लोगों को मेरे जैसे वकील की जरूरत नहीं है। बता दें कि मोदी चार देशों की यात्रा पर हैं। जर्मनी और स्पेन के बाद मोदी रूस के दो दिवसीय दौरे पर थे। शनिवार को वे फ्रांस में रहेंगे। मोदी के जवाब से पहले पुतिन ने ली चुटकी…
– जर्नलिस्ट मेगिन कैली ने पूछा, ‘‘प्राइम मिनिस्टर मोदी! प्रेसिडेंट पुतिन ने हाल ही में कहा था कि रूस कभी भी दूसरे देशों में होने वाले चुनावी प्रक्रिया में दखल नहीं देता। क्या आप इस पर यकीन रखते हैं?’’
– इस सवाल को सुनने के बाद पुतिन ने सिर हिलाया और मुस्कुरा दिए। वहां मौजूद लोग भी हंसने लगे। पुतिन ने मजाक में कहा- ‘मोल्डोवन प्रेसिडेंट से पूछिए। वे असलियत जानते हैं।’ इतना कहते ही ठहाका लग गया।
– पुतिन के इस कमेंट से मायने ईस्टर्न यूरोपीय देश मोल्डोवा में पिछले साल नवंबर में हुए चुनाव से थे। वहां सोशलिस्ट नेता इगोर डोडोन जीते हैं जो रूस के बेहद करीबी माने जाते हैं।
– इसके बाद मोदी ने कहा- आप अमेरिका की, जर्मनी की, रशिया की, (यूएस प्रेसिडेंट) श्रीमान ट्रम्प की, हिलेरी क्लिंटन की, (जर्मनी की) चांसलर मर्केल की, प्रेसिडेंट पुतिन की… ऐसे-ऐसे बड़े-बड़े लोगों की चर्चा कर रही हैं। मुझे नहीं लगता कि मेरे जैसे वकील की इन लोगों को जरूरत है।
– मोदी के इतना कहते ही ठहाका लगा। लोगों ने जमकर तालियां बजाईं।
पुतिन बोले- हाजिर जवाब हैं मोदी
– मोदी के जवाब पर एंकर ने कहा- हां। हमें कभी बेबाक वकीलों की जरूरत ही नहीं पड़ती।
– आखिर में पुतिन ने भी मोदी को सपोर्ट करते हुए कहा- वे बहुत हाजिर जवाब हैं। हिंदी में वे कहते हैं तो आप अंदाज नहीं लगा सकते। लेकिन उनकी फिलॉसफी बहुत बड़ी है। …हम तो सिम्पल लोग हैं। जो सोचते हैं, वो कह देते हैं।
क्या है रूस और अमेरिका इलेक्शन का मसला
– जनवरी 2017 में US इंटेलिजेंस एजेंसियों ने प्रेसिडेंशियल इलेक्शन पर एक रिपोर्ट जारी की थी। जिसमें कहा गया था कि प्रेसिडेंट इलेक्शन में रूस ने दखल दिया था। इलेक्शन कैंपेन को ट्रंप के पक्ष में करने के लिए हैकिंग हुई थी।
– पुतिन हमेशा इन आरोपों से इनकार करते रहे हैं। हालांकि, पिछले दिनों उन्होंने पहली बार कहा था कि कुछ रूसी देशभक्त ऐसा कर सकते हैं।
एंकर ने पूछा क्या आप ट्विटर पर हैं, हंस दिए मोदी
– पुतिन ने मोदी के सम्मान में सेंट पीटर्सबर्ग के कोंस्टैंटिन पैलेस में डिनर रखा था। इस दौरान पुतिन का इंटरव्यू लेने के लिए सिर्फ कैली को बुलाया गया था।
– कैली से मुलाकात के दौरान मोदी ने उनसे कहा, “मैंने आपकी ट्वीट देखी थी, उसके साथ लगी तस्वीर में आप छाता लिए हुई थीं।”
– इस पर कैली ठहाका लगाकर हंस दीं और मोदी से पूछा, “आप ट्विटर पर हैं?” इस पर मोदी हंस दिए। इस दौरान पुतिन के एक ट्रांसलेटर भी वहां माैजूद थे। बता दें कि मोदी के ट्विटर पर 3 करोड़ से ज्यादा फॉलोअर्स हैं।
कौन हैं कैली?
– उनका पूरा नाम मेगिन मैरी कैली है। वो एक अमेरिकी जर्नलिस्ट, पॉलिटिकल कमेंटेटर और पूर्व डिफेंस अटॉर्नी हैं।
– 2004 से जनवरी 2017 की शुरुआत तक वो फॉक्स न्यूज से जुड़ी रहीं। 3 जनवरी को उन्होंने बताया कि वो NBC ज्वाइन करने वाली हैं।
– 4 जून 2017 से वो “संडे नाइट विद मेगिन कैली” नाम से न्यूज प्रोग्राम शुरू कर रही हैं।
– 2014 की टाइम्स लिस्ट में उन्हें 100 सबसे असरदार लोगों की लिस्ट में शामिल किया गया था।
– 2001 में उन्होंने डेनियल केंडल से शादी की थी। 2006 में उनका तलाक हो गया। कैली के तीन बच्चे हैं। 2008 में डगलस ब्रंट से कैली ने दूसरी शादी की।
इंटरनेशनल इकोनॉमिक फोरम में क्या बोले मोदी
आतंकवाद
: “40 साल से भारत सीमा पार आतंकवाद का शिकार रहा है। कुछ ऐसे देश हैं जो आतंकवादियों को पैसा और हथियार सप्लाई करते हैं।”
चीन: “चीन के साथ पिछले 40 साल से हमारे हालात स्थिर हैं। इस दौरान बॉर्डर पर एक भी गोली नहीं चली है।”
राज कपूर: “रूस में बॉलीवुड बहुत फेमस है। शायद ही ऐसा कोई हो, जो राज कपूर को न जानता हो। नई पीढ़ी भी उन्हें जानती है।”
पेरिस डील से यूएस के हटने पर क्या कहा
–  ट्रम्प ने पेरिस क्लाइमेट डील से अमेरिका को बाहर रखने का फैसला किया है। ट्रम्प ने कहा कि पेरिस डील में भारत और चीन जैसे पॉल्यूटेड देशों के लिए कोई खास सख्ती नहीं की गई है।
– रूस में मोदी से पेरिस डील और अमेरिका के फैसले पर सवाल हुआ तो उन्होंने जवाब में ट्रम्प का नाम नहीं लिया।
– मोदी बोले- पेरिस हो या ना हो। हम बहुत पहले से क्लाइमेट को बचाने के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं।
SHARE