Home Odd News इन वजहों से रामनाथ कोविंद बनाये गये है राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार

इन वजहों से रामनाथ कोविंद बनाये गये है राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार

बीजेपी ने अपना राष्ट्रपति उम्मीदवार कानपुर के रहने वाले एवं बिहार के वर्तमान राज्यपाल रामनाथ कोविंद को बनाया है | जानकारों का मानना है की यूपी देश का सबसे बड़ा 80 संसदीय सीट वाला प्रदेश है। ऐसे में इसका प्रभाव 2019 के लोकसभा चुनावों में पड़ेगा |

बीजेपी को मुस्लिम नही दलित चाहिये

# जानकारों के अनुसार प्रदेश में 21 फीसदी दलित हैं। ऐसे में रामनाथ कोविंद को उम्मीदवार बनाकर दलितों को यह मैसेज दिया गया है कि बीजेपी के लिए मुस्लिम नहीं, बल्कि दलित जरूरी हैं।

# दरअसल यूपी चुनाव जीतने के बाद भी बीजेपी दलितों का समर्थन को लेकर आश्वस्त नहीं है। यही वजह है कि बीजेपी ने यह दांव चला है, क्योंकि बीजेपी को मालूम है कि मुस्लिम उसके साथ आएगा नहीं और सवर्ण एवं पिछड़ी जातियों के पास अब ज्यादा अप्शन नहीं है।

दलितों और ठाकुरों की लडाई शांत करना भी मकसद

# जानकारों का कहना है की यूपी में योगी सरकार बनने के बाद से ही ठाकुर और दलितों में टकराव देखने को मिल रहा है।

# ऐसे में इस विरोध को रोकने में भी रामनाथ कोविंद की दावेदारी मजबूत भूमिका अदा कर सकती है। यह भी मैसेज दिया गया है कि बीजेपी ही है जो दलितों की हितैषी है।

वोट परसेंटेज बढ़ाना है मकसद

# जानकार कहते है की बीजेपी का मकसद 2019 के लोकसभा चुनाव में ज्यादा से ज्यादा दलित वोट बैंक बटोरने का है।
# बीजेपी को यूपी चुनाव 2017 में 40 फीसदी दलित वोट मिला था, जबकि बीएसपी को दल‍ितों के 24 फीसदी वोट ही मिले थे।
# यही वजह है कि बीजेपी 2019 को फोकस करके चल रही है।

SHARE