Home Odd News योगी के जनता दरबार का नहीं मेन्टेन हो रहा रिकॉर्ड: RTI में...

योगी के जनता दरबार का नहीं मेन्टेन हो रहा रिकॉर्ड: RTI में खुलासा

लखनऊ. सीएम योगी के जनता दरबार को लेकर चौकाने वाला खुलासा हुआ है। दरअसल एक आरटीआई में ये जानकारी मिली है कि योगी के जनता दरबार का कोई रिकॉर्ड मेन्टेन नहीं किया जा रहा। यह आरटीआई संजय शर्मा ने 8 अप्रैल को फाइल की थी।
फरियादियों के प्रार्थना पत्र का भी नहीं कोई रिकॉर्ड
– बता दें, संजय शर्मा की आरटीआई के जवाब में सीएम ऑफिस के जन सूचना अधिकारी की ओर से बताया गया कि, सीएम ऑफिस के पास अब तक हुए जनता दरबारों की संख्या, जनता दरबारों में आए फरियादियों की संख्या का कोई रिकॉर्ड नहीं है।
– इतना ही नहीं, जनता दरबारों नें आए फरियादियों के प्रार्थना पत्र भी यहां कूड़े के भाव में रखे जा रहे हैं क्योंकि उनका कोई डाटा मेनटेन नहीं किया जा रहा।
– इसके साथ ही जनता दरबारों नें आए फरियादियों में से कितनो की समस्याएं सॉल्व हो गई हैं इसकी भी जानकारी सीएम ऑफिस के पास नहीं है।
– सीएम ऑफिस की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, जनता दरबार में सीएम योगी की उपस्थिति में शामिल हुआ जा सकता है, जिसके लिए कोई प्रक्रिया निर्धारित नहीं है।
14 बिंदुओं पर मांगी थी सूचना
– समाजसेवी संजय शर्मा ने यह आरटीआई 8 अप्रैल को फाइल की थी। उन्होंने जनता दरबार से सम्बंधित 14 बिंदुओं पर सूचना मांगी थी।
– जिसके जवाब में सीएम ऑफिस के जन सूचना अधिकारी सुनील कुमार मंडल ने उन्हें ये जानकारी दी।
केवल खबर बन कर रह गया जनता दरबार- संजय शर्मा
– समाजसेवी संजय शर्मा ने इस संबंध में कहा- सीएम का जनता दरबार केवल खबर बन कर रह गया है। इन दरबारों में फरियादियों की सिर्फ सुनवाई हो रही है।
– मैंने सीएम को लेटर लिखकर जनता दरबार में आए मामलों के रिकॉर्ड मेन्टेन करवाने का अनुरोध किया है।
SHARE